Categories
शेर-ओ-शायरी

सीख रहा.. learning

सोचा कुछ गुनगुना लूं 🎶 ऐसे ही ज़ुबाँ पर आ गया तो डाल दिया 🙏

लफ़्ज़ों की ख़बर नहीं कोई,
वह कौन है जो भीतर से चीख़ रहा है,

ख़ामोशी से दोस्ती कर, मिरा कलम,
नक़्श छोड़ना सीख रहा है।

-vj

Translated:

No news of the pains,
who is the one screaming from inside the heart,

Befriending with the silence, my pen,
has started learning to leave words on the papers.