Categories
कविता

नींद

Picture credit: Internet

मेरी नींद को आदत मेरी, पसन्द आती नहीं

मेरी नींद को आदत मेरी, पसन्द आती नहीं,
मैं उसका दोस्त ही हूँ, समझ पाती नहीं,
समझाऊं उसे, इतना वक़्त तो मिलता नहीं,
बिन उसके चैन का कमल भी खिलता नहीं।

वो वक़्त से आती तो है, मैं टाल देता हूँ,
उसके हिस्से से भी, कुछ वक़्त निकाल लेता हूँ,

शिकायतें करे वो किससे, यह तो मेरी ही मनमानी है,
बस एक दो नहीं, न जाने कितनी सारी हैं,
यह आज की नहीं, सदियों की बीमारी है,
पर ख़्याल रखना उसका, मेरी ही ज़िम्मेदारी है।

हाँ सब कुछ समझता हूँ और जानता भी हूँ,
सुधारना चालू किया नहीं मैंने, मानता हूँ,
अब अपनी ही कमियों को छिपाऊँ किससे मैं,
अपनी मनमानियों का कारण भी पहचानता हूँ,
और उन मनमानियों का निराकरण भी जानता हूँ।

पर भूल जाता हूँ मैं, उसकी ख़्वाईशो को, खुद ही में लिप्त होकर,
वो पराई हो जाती है, किसी और की आँखों में खोकर।

हाँ वक़्त तेरे लिए भी है, मुझ से कहा जाता नहीं,
मैं कैसा भी रहूँ, तुझे कभी रूठना आता नहीं,
मुझे भी उतना ही इश्क़ है तुझसे, जितना तुझे है,
पर सुकूँ जो तुझमें है छुपा, मैं कहीं और पाता नहीं।

-vj

Categories
कविता

Sleeping.. Sleeping

Picture credit: Internet

“निद्रा”

जब थकावट में सदियों की निद्रा पास आती है,
सर हवाओं में झूमकर, बिस्तर की याद दिलाती है,
आँख अंधेरे में खोकर सब कुछ भूल जाता है,
तन को तब सिर्फ, सोने में मजा आता है।

मैं बत्तियाँ बुझाया या नहीं कहाँ सोचता हूँ,
बिस्तर भी लगाया या नहीं कहाँ खोजता हूँ,
ये सभी न जाने किस अंधेरे में खो जाती हैं,
वो कुर्सियां वो टेबल मेरा बिस्तर हो जाती हैं।

तब वो चैन और सुकूँ, मैं सोकर ही पाता हूं,
जिन्हें ढूढ़ने मैं, जग कर ही लग जाता हूँ,
यूँ उठ जाने पर सुकूँ फिर कहाँ रास आती है,
जो थकावट में सदियों की निद्रा पास लाती है।

-vj

Translated:

When centuries of sleep come to exhaustion,
the head reminds me about the bed, swinging in the wind,
eye forgets everything to lost in the darkness,
then the body enjoys only sleeping.

I do not think about the lights, they are extinguished or not,
i do not find the bed, it’s near to me or not,
they all get lost in the unknown darkness,
Those chairs, those tables became my bed at then.

Then that relax and patience, i get via. sleeping,
whom i need to find after awakening,
after waking up, it’s not necessary we will get happiness or not,
which brings centuries of sleep in exhaustion.

:Sleeping is the best gift of Lord.