Categories
शेर-ओ-शायरी

बस लिखूंगा

जमा थी ऐब जितनी उन्हें ही पन्नों पर उतार रहा हूँ,
ना जाने कौन-सी सदी से यहाँ गिरफ्तार रहा हूँ।

-vj

शब्दावली: रूह- दिल, मसरुर- आनंदित, ऐब- बुराइयां

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

Separation_विरह

मुलाकातें कितनी भी कर लूं, कम-सी होती है,
दूर होने पर उनसे, घुंटन-सी होती है,
बयाँ करूँ कैसे हाल-ए-दिल, दूर ही तो हैं,
याद कर, बातें फिराक की, चुभन-सी होती है।

-vj

फ़िराक- separation

Translated:

No matter how many meetings I have, it always seems less,
When i am away from you,  I feel discomfort,
How would i tell you my heart’s voice, really I’m far from you,
My heart aches to feel the thoughts of separation.

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

Prayer …फ़रियाद

“मेरा साथ न छोड़ा”

आइने के किसी भी टुकड़े ने मेरा साथ ना छोड़ा,
फ़रियादों के एक भी हिस्से ने मेरा आस ना तोड़ा,
मैं कैसे कर सकता था बे’वफ़ाई, ऐ खुदा तेरी मुहब्बत से,
वक़्त कैसा भी रहा तूने मेरा हाथ ना छोड़ा।

-vj

Translated:

The piece of every mirror have never left me alone,
Not a single part of the complainants have broken my hopes,
How could I do infidelity, Hey Lord! with your love,
You have never left my hand at any stage of my life.

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

Prayer फ़रियाद

“मुझे कुछ न दो”

मुझे कुछ ना दो दुहाई में, पर गवाही देना,
इन बंजर सड़कों को दो राही देना,
यही सब आसरे हैं किसी के जीने की,
ऐ खुदा! बस एक ख़त लिख लूँ, थोड़ी स्याही देना।

-vj

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

मच्छर

“रक्त का बीमार”

क़त्ल हुआ उस का, मेरे ही हाथों से,
नासमझ तिश्नगी में, रक्त का बीमार था।

-vj

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

नाम

“ख़्वाईश”

अपनी ख्वाइशों की दुनियां को,
सरे-आम, नीलाम कर दूँ,

सोचता हूँ,..
मुक़म्मल होने से पहले,
इक पन्ने पर, ख़ुद का नाम कर लूँ।   

-vj

मुक़म्मल- die, नीलाम- sell

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

माँ

है तलवारों से ज़िनकी दोस्ती, लहू से नहाये हुए हैं,
माँ आज भी लाल रंग से डरती है जो ज़ख्मों पे आये हुए हैं।

-vj

छवि श्रेय- इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

ग़म-ए-शहर

ना देना दुःख को पनाह, घर कर लेगा,
खुशियों से दुश्मनी कर, उन्हें बे-घर कर देगा,
कौन चाहता नहीं, इक मकां रहने के लिए,
मिला ग़र आशियां ग़म को, ग़म-ए-शहर कर देगा।

-vj

Please do not give attention to the sadness. If you think about it, you will feel more about it. At the end you will be habitual to feel the sadness. Everyone wants to find one’s weakness but it’s a bad habit. It is the real cause of sadness.

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

मेरा ग़म

“Expectations”

हमनें मुक़द्दर से जो भी पाया कम था,
खुद की बनाई शान-ए-शौक़त में मैं ऱम था,
शिकायतें बार-बार किया, वैसा बन जाऊं,
इन्हीं ख़्वाईशों से पल रहा मेरा गम था।

-vj

Probably because you do not see what they did to “deserve” such happiness, and feel that it may be unfair to you that you do not experience such happiness. I think there is no point in thinking about how to “deserve” happiness. People may do a lot of positive things to improve their lives, but sometimes for years you may be experiencing bad time without your personal fault. You must accept that life may be very “unfair”, and we can just try to make the best of our share of things. There are lots of circumstances we cannot control, and we can only choose to cope with them in the best possible way. Believe it or not, most people are not so happy all their lives, happiness ebbs and flows, so there is not really a point in feeling envy. So try to love yourself, believe in yourself and try not to make your life worse if nothing else. Things may get better in time.

छवि श्रेय: इंटरनेट

Categories
शेर-ओ-शायरी

ज़ख्म

कहते नहीं बनता ऐसा वो मंज़र लगता है,
ज़ख्म जब बाहर नहीं, अंदर लगता है।

-vj

छवि श्रेय: इंटरनेट